एलर्जी नाक की (Allergic rhinitis)

एलर्जी नाक की

एलर्जी नाक की समस्या एक आम समस्या बन गई है| यह नाक से जुड़ी बीमारी है| यह आजकल सभी लोगों में देखने को मिलती है| हमारी नाक प्रतिदिन की शरीर की क्रियाओं में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है| यह सांस के द्वारा शरीर में प्रवेश करने वाले धूल के कणों और हानिकारक पदार्थों को अंदर जाने से रोकती है लेकिन जब यह पदार्थ किसी तरह से शरीर में प्रवेश कर जाते हैं तो हमारा इम्यून सिस्टम इनके प्रति प्रतिक्रिया व्यक्त करता है और हमें एलर्जी की समस्या होने लगती है|

एलर्जी नाक की एनर्जन  की वजह से होती है इसमें लगातार छीके आना, नाक से पानी बहना और नाक में खुजली होने जैसे लक्षण नजर आते हैं| इसके अलावा बुखार होने की संभावना भी बढ़ जाती है| नाक में होने वाली एलर्जी को एलर्जीक राइनाइटिस कहते हैं| धूल, मिट्टी, प्रदूषण, मौसमी बदलाव और परागकण के शरीर के संपर्क में आने से एलर्जीक राइनाइटिस की समस्या उत्पन्न होती है |यह बीमारी हमारी दिनचर्या को अत्यधिक प्रभावित करती है| इसका सही समय पर इलाज न करने पर अन्य बीमारियों के होने की संभावना बढ़ जाती है| एलर्जीक राईनाइट्स होने पर अन्य बीमारियों जैसे- साइनस और अस्थमा जैसी-समस्याएं उत्पन्न हो सकती है|

Allergic rhinitis
एलर्जीक राईनाइट्स (Allergic rhinitis)

एलर्जीक राईनाइट्स के लक्षण(Rhinitis symptoms)

  • छींके आना
  • नाक से पानी  बहना
  • आंखों और नाक में खुजली होना
  • लगातार सिर दर्द रहना
  • नाक का बंद होना
  • ग्ले मे खराश और दर्द होना
  • एलर्जी के कारण कुछ लोग अस्थमा बीमारी के शिकार हो जाते हैं और व्यक्ति को सांस लेने मे कठिनाई का अनुभव होता है|
Allergic rhinitis
एलर्जीक राईनाइट्स ( Allergic rhinitis )

एलर्जीक राईनाइट्स के कारण(Rhinitis causes)    

1.परागकण-कुछ लोगों को फूलों के पराग कणों के कारण एलर्जी की समस्या हो सकती है |ऐसे पर्यावरण में जहां अधिक पेड़-पौधे हो वहां आपको एलर्जीक राईनाइट्स होने की संभावना ज्यादा होती है|

2.लाइफ़स्टाइल-आपकी दिनचर्या का आपके स्वास्थ्य पर अत्यधिक प्रभाव पड़ता है| आपके घर की गद्दी और तकिए गंदे होने पर धूलके कण आसानी से शरीर में प्रवेश करने लगते हैं और आपको एलर्जीक राईनाइट्स होने की संभावना बढ़ जाती है|

3.फफूंदफफूंद भी एलर्जी होने का मुख्य कारण है इसलिए अपने बाथरूम और खिड़कियों पर फफूंद न जमने दे |

4.संपर्क में आने सेकिसी ऐसे व्यक्ति के संपर्क में आने से जो इस रोग से पहले से ही ग्रस्त हो आपको इस रोग के होने की संभावना बढ़ जाती है|

5.धूम्रपान गर आपको धूम्रपान से एलर्जी है तो धूम्रपान करने वाले व्यक्ति के संपर्क में आने से आपको एलर्जीक राईनाइट्स होने की आशंका होती है|

6.तापमान में अचानक परिवर्तन आने के कारण-तापमान में अचानक परिवर्तन आने के कारण धूल कण किसी भी तरह शरीर में प्रवेश कर जाते हैं और आप एलर्जीक राईनाइट्स के शिकार हो जाते हैं|

7.मौसम में बदलाव- मौसम में बदलाव आने के कारण एलर्जीक राइनाइटिस होने की संभावना बढ़ती है|

8.खुशबु -ब्यूटी प्रोडक्ट्स जैसे –पाउडर,परफ्यूम,साबुन ,शैम्पू आदि का प्रयोग करने से सिर दर्द और नाक की एलर्जी से संबन्धित समस्याएँ उत्पन हो सकती हैं |

9.प्रदूषण से एलर्जी –कारखानो व चिमनियों से निकलने वाला धूँआ, हवा और पानी को दूषित कर देते हैं| हवा और पानी के संपर्क मे आने से एलर्जी होने लगती है |

10.कीटपतंग –घर के आस पास कॉकरोच,मकड़ी, डेंगू,टीडी आदि के काटने से एलर्जी होने लगती है |

11.आनुवांशिकता-अगर आपके घर मे किसी व्यक्ति को कोई एलर्गी है तो ऐसे व्यक्ति के संपर्क मे आने से आपको एलर्जी हो सकती है |

एलर्जीक राइनाइटिस से बचने के लिए आयुर्वेदिक नुस्खे (Rhinitis treatment)

1.भाप लेने सेएक बर्तन में डेढ़ से दो गिलास गरम पानी ले और उसमें 8 से 10 बूंदें किसी भी तेल की डाल ले अब अपने सिर को तौलिए से ढक ले और झुककर भाप को सांस के द्वारा अंदर ले भाप लेने से एलर्जी की समस्या को खत्म किया जा सकता है और यह बंद नाक को खोलने में हमारी मदद करता है|

2.सेब का सिरका एक गिलास गर्म पानी में एक चम्मच शहद और एक चम्मच सेब का सिरका मिलाकर पीने से नाक बहने की समस्या से निजात मिलता है और यह सूजन को भी कम करने में सहायक है|

3.हल्दी रात को सोने से पहले एक गिलास गर्म दूध में हल्दी मिलाकर इसका सेवन करने से नाक की एलर्जी की समस्या दूर होती है और यह सूजन को भी कम करता है|

4.अदरक-अदरक में एंटीहिस्टामाइन गुण पाए जाते हैं जो सूजन को कम करने में हमारी मदद करते हैं किसी बर्तन में तो एक गिलास पानी गर्म करके उसमें छोटा सा अदरक का टुकड़ा डालकर उबाल ले जब मैं पानी आधा रह जाए तब उसमें एक चम्मच शहद और एक नींबू का रस मिलाकर पी ले ऐसा करने से एलर्जीक राईनाइटिस की समस्या दूर होती है|

5.अरंडीकातेल-नाक की एलर्जी होने पर आधा कप पानी मे अरंडी के तेल की 4 से 5 बुँदे डालकर सुबह खाली पेट पीने से एलर्जी की समस्या दूर होती है |  

6.लहसुन-लहसुन में एंटीहिस्टामाइन गुण होते हैं इसलिए प्रतिदिन सुबह उठकर लहसुन की दो से तीन कच्ची कलियों को खाने से एलर्जी की समस्या दूर होती है|

7.मुलेठी-मुलेठी का प्रयोग करने से एलर्जीक राइनाइटिस यानी नाक की एलर्जी के उपचार में मदद मिलती है इसलिए एक गिलास पानी में मुलेठी को उबालकर जब उसका पानी आधा रह जाए तब इस पानी का सेवन करें|

8.नींबू और शहद-1 गिलास गुंगुने पानी मे 1 नींबू निचोड़ लें और 1 चममच शहद मिलाकर सुबह खाली पेट पीने से एलर्जी की समस्या से निजात मिलता है और शहद का सेवन करने से शरीर से विषैले पदार्थ बाहर निकाल आते हैं और वजन भी कम होने लगता है |

 9.ग्रीनटी ग्रीन टी मे शहद मिलाकर इसका सेवन करने से एलर्जी नाक की समस्या से निजात मिलता है|

एलर्जीक राइनाइटिस होने पर सावधानियां

1.घर में वेक्यूम क्लीनर का प्रयोग करें|

2.धूल कणों और तापमान में परिवर्तन होने पर यह समस्या उत्पन्न होती है इसलिए तब तापमान में अचानक परिवर्तन आने पर बचाव करें|

3..घर से बाहर निकलने पर मुंह पर कपड़ा बांधे और आंखों पर चश्मा लगाएं|

4.गर्म वातावरण से ठंडे वातावरण में प्रवेश न करें|

5.गद्दो औरतकियों पर कवर चढ़ा कर रखें और इन्हें हफ्ते में एक बार तो कर धूप लगवा दें|

6.फफूंद भी एलर्जी होने का मुख्य कारण है इसलिए बाथरूम और खिड़कियों पर फफूंद न जमने दे इसलिए पानी को लीक न होने दे|

7.जिस पदार्थ से हमें एलर्जी है हमें उस पदार्थ के संपर्क में नहीं आना चाहिए|

8.अधिक एलर्जी होने पर दवाओं का सेवन करें|

9.अगर आपको पालतू जानवरों से एलर्जी है तो उन्हें घर में न रखें और बाल वाले जानवरों से दूर रहें|