कामेच्छा की कमी (low libido)

कामेच्छा की कमी

कामेच्छा की कमी की समस्या एक आम समस्या बन गई है जिसे लिबिडो प्रॉब्लम भी कहते हैं जब पुरुष या स्त्री में यौन संबंध बनाने की उत्तेजना कम हो जाए या बंद हो जाए तो उसे कामेच्छा की कमी कहा जाता है पुरुषों में कामेच्छा की कमी टेस्टोस्टेरोन से संबंधित है पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन का स्तर सामान्य होना चाहिए पुरुषों में महिलाओं की अपेक्षा टेस्टोस्टेरोन अधिक मात्रा में होने के कारण कामेच्छा की अधिकता पाई जाती है परंतु हार्मोन में असंतुलन आने के कारण कामेच्छा की कमी आ जाती है|

धूम्रपान का सेवन करने से, आपसी संबंध ,टेस्टोस्टेरोन के स्तर में कमी आना ,दवाइयों का सेवन करने से , पर्याप्त मात्रा में नींद न लेने से और उम्र के बढ़ने के साथ- साथ कामेच्छा की कमी की समस्या उत्पन्न हो जाती है|

कामेच्छा की कमी के लक्षण(low libido symptoms)

  • टेस्टोस्टेरोन का स्तर कम होना|
  • लिंग की उत्तेजना में कमी आ जाना|
  • मांसपेशियों का कमजोर हो जाना|
  • यौन संबंध बनाने के बाद वीर्य स्खलन का देरी से आना|
  • हस्तमैथुन करने से शुक्राणुओं की संख्या में कमी आना, शीघ्रपतन जैसी समस्याएं होना|
  • हार्मोन के स्तर में परिवर्तन आना|
  • यौन सुख प्राप्त  ना होना|

पुरुषों में कामेच्छा की कमी के कारण(low libido causes)

1.व्यायाम न करना- व्यायाम न करना योन इच्छा में कमी होने का मुख्य कारण है| कामेच्छा आपके मानसिक और शारीरिक स्वास्थ्य पर निर्भर करती है इसलिए हमें प्रतिदिन व्यायाम करना चाहिए| व्यायाम करने से शरीर में रक्त का प्रवाह ठीक ढंग से होता है और यह  हार्मोन में संतुलन बनाए रखने में हमारी मदद करता है|

2.हार्मोन में असंतुलन- प्रोस्टेट ग्रंथि के बढ़ जाने पर हार्मोन में असंतुलन आ जाता है जिससे कामेच्छा की कमी होने लगती है|

3.टेस्टोस्टेरोन कम होना- टेस्टोस्टेरोन पुरुषों में हारमोंस के रूप में पाया जाता है जो हड्डियों का निर्माण करता है| टेस्टोस्टेरोन में कमी आने के कारण कामेच्छा की कमी आ जाती है और लिंग की उत्तेजना कम हो जाती है|

4.बढ़ती उम्र- उम्र के बढ़ने के साथ- साथ हारमोंस के सत्र में परिवर्तन आ जाने के कारण व्यक्ति की कामेच्छा की कमी आ जाती है| पुरुषों में 50 से 70 वर्ष की आयु में योन इच्छा में कमी होने लगती है|

5.शीघ्रपतन शीघ्रपतन यौन इच्छा में कमी होने का मुख्य कारण है| यौन संबंध बनाने के दौरान घबराहट और शर्म महसूस करने पर शीघ्रपतन की समस्या उत्पन्न हो जाती है|

6.दवाइयों का सेवन करने से- प्रतिदिन रोकथाम के उपाय करने पर एंटी डिप्रेसेंट दवाइयां और हाई ब्लड प्रेशर दवाइयों  का सेवन करने से कामेच्छा की कमी आ सकती है जिससे लिंग की उत्तेजना में कमी आ जाती है  और कामेच्छा में कमी होने लगती है|

7.हस्तमैथुन करना- हस्तमैथुन करने से मांसपेशियां कमजोर हो जाती है जिससे कामेच्छा की कमी आ जाती है|

8.तनाव- तनाव होने पर व्यक्ति के हार्मोन के स्तर में कमी आ जाती है और रक्त का प्रवाह ठीक ढंग से नहीं होता| मानसिक तनाव होने पर व्यक्ति की कामेच्छा की कमी आ जाती हैं|

9.पर्याप्त नींद न लेना- पर्याप्त नींद न लेने पर कामेच्छा में कमी आ जाती है व शरीर में टेस्टोस्टेरोन के सत्र में कमी आ जाती है| टेस्टोस्टेरोन की प्रतिदिन की गतिविधि कामेच्छा को बढ़ाने में सहायक है|

कामेच्छा को बढ़ाने वाला भोजन(food that increase libido)

1.तरबूज-तरबूज कामेच्छा को बढ़ाने में सहायक है| तरबूज में पाया जाने वाला फेन्यूट्रिएंट् सीटूलीन एक एमीनो एसिड में बदल जाता है जो लिंग में रक्त के प्रभाव को बढ़ाने में सहायक है और लिंग में उत्तेजना भी बढ़ती है|

2.ट्रफलट्रफल में मौजूद अल्फा एंडोस्टेटीनोल फेरोमेन रसायन के समान है जो सेक्स के प्रति उत्तेजना को बढ़ाता है|

3.लहसुन-लहसुन में पाए जाने वाले एलिसिन नामक पदार्थ के कारण लहसुन रक्त के प्रवाह  को बढ़ाने में सहायक है और कामेच्छा को भी बढ़ाता है|

4.शहद-शहद में विटामिन बी पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है जो टेस्टोस्टेरोन के सत्र में वृद्धि करता है जिससे कामेच्छा की समस्या दूर होती है|

5.अनार-अनार में एंटीऑक्सीडेंट गुण मौजूद होते हैं जो रक्त के प्रभाव को बढ़ाने में सहायक है और कामेच्छा की कमी को भी दूर करता है|

6.बादाम -बादाम में विटामिन ई पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है| बादाम का सेवन करने से कामेच्छा की कमी की समस्या दूर होती है और उत्तेजना भी बढ़ती है|

7.चॉकलेट-चॉकलेट में फेनिलथाई लामाइन नामक तत्व पाया जाता है जिसका सेवन करने से कामेच्छा की कमी दूर होती है| डार्क चॉकलेट में पाए जाने वाले पोषक तत्व तनाव को दूर करते हैं और दिमाग में पाए जाने वाले डोपामाइन नामक हार्मोन के स्त्राव को बढ़ाते हैं जिससे सेक्स के प्रति उत्तेजना बढ़ती है|

चॉकलेट में फेनिलथाई लामाइन नामक तत्व पाया जाता है जिसका सेवन करने से कामेच्छा की कमी दूर होती है| डार्क चॉकलेट में पाए जाने वाले पोषक तत्व तनाव को दूर करते हैं और दिमाग में पाए जाने वाले डोपामाइन नामक हार्मोन के स्त्राव को बढ़ाते हैं जिससे सेक्स के प्रति उत्तेजना बढ़ती है|
डार्क चॉकलेट

8.पाइन नट्स-पाइन नट्स मे जिंक की मात्रा पाई जाती है| पाइन नट्स का सेवन करने से कामेच्छा की कमी को दूर किया जा सकता है|

9.अखरोटअखरोट में ओमेगा 3 फैटी एसिड भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो नाइट्रिक ऑक्साइड के उत्पादन को बढ़ाने में मदद करता है व रक्त वाहिकाओं को आराम देता है और रक्त का प्रवाह बढ़ाता है|

अखरोट में ओमेगा 3 फैटी एसिड भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो नाइट्रिक ऑक्साइड के उत्पादन को बढ़ाने में मदद करता है व रक्त वाहिकाओं को आराम देता है और रक्त का प्रवाह बढ़ाता है|
अखरोट

कामेच्छा बढ़ाने के आयुर्वेदिक उपाय(libido  treatment)

1.केला- केले में ब्रोमेलेन नामक एंजाइम पाया जाता है जो पुरुष की कामेच्छा को बढ़ाने में सहायक है| केले में पोटेशियम और विटामिन बी भी भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो सेक्स के प्रति रुचि बढ़ाने वाले हारमोंस का निर्माण करता है|

2.लाल मिर्च– लाल मिर्च में पाया जाने वाला कैपसेसिन नामक तत्व एंडोर्फिन के स्त्राव को बढ़ाता है जिसके कारण लिंग में उत्तेजना बढ़ती है और कामेच्छा की कमी दूर होती है|

3.डार्क चॉकलेट-डार्क चॉकलेट में पाए जाने वाले पोषक तत्व तनाव को दूर करते हैं और दिमाग में पाए जाने वाले डोपामाइन नामक हार्मोन के स्त्राव को बढ़ाते हैं जिससे सेक्स के प्रति उत्तेजना बढ़ती है|

4.अंडे अंडे शरीर में हारमोंस के संतुलन को बनाए रखते हैं जो तनाव को दूर करता है|

5.मूंगफली का सेवन– मूंगफली में विटामिन b1 मौजूद होता है जो आपके नर्वस सिस्टम से सिग्नल को लेकर दिमाग से पेनिस तक पहुंचाने में मदद करता है|

6.अश्वगंधा– यह एक प्रकार की जड़ी बूटी है| अश्वगंधा का सेवन करने से कामेच्छा की कमी को दूर किया जा सकता है और शीघ्रपतन से भी आराम मिलता है| अश्वगंधा योन संबंधी समस्याओं को दूर करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है|

7.चुकंदर- चुकंदर में मौजूद बोरो तत्व हारमोन के स्तर में में वृद्धि करता है जिसके कारण  सेक्स के प्रति  कामेच्छा  मे रुचि बढ़ती है और रक्त का संचार तेजी से होता है|

8.मेथी दाना- मेथी के बीजों को पीसकर उसका सेवन करने से कामेच्छा के सतर को काफी हद तक बढ़ाया जा सकता है|