खाने से एलर्जी(food allergy)

खाने से एलर्जी

खाद्य पदार्थों का सेवन करने से खाने की प्रति जब आपका शरीर के इम्यून सिस्टम या प्रतिरक्षा प्रणाली का असामान्य रूप से प्रतिक्रिया देता है तो उसे खाने की एलर्जी कहते हैं कई बार हमारा इम्यून सिस्टम या प्रतिरक्षा प्रणाली खाने में पाए जाने वाले प्रोटीन को अर्जन पदार्थ समझने लगता है जिसका हमारे शरीर पर हानिकारक प्रभाव पड़ता है जिसके कारण लाल चकते होना आंखों से पानी आना आंखे लाल होना आंखों के चारों ओर सूजन होना नाक से संबंधित समस्या होना और सांस लेने में कठिनाई होना जैसी समस्याएं उत्पन्न होने लगती हैं |खाने से होने वाली एलर्जी से बचने के लिए सबसे पहले यह पता लगाना चाहिए कि आपको किस आहार से एलर्जी हुई है उसका परीक्षण करने के लिए स्किन टेस्ट और ब्लड टेस्ट किए जाते हैंआहार से होने वाली एलर्जी को ओरल एलर्जी सिंड्रोम कहा जाता है अगर फूड एलर्जी का सही समय पर इलाज नहीं किया जाए तो इससे हम अन्य बीमारियों की चपेट में आ सकते हैं

अगर आपको किसी आहार से एलर्जी हो रही है डॉक्टर की चिकित्सा ले आहार में शामिल जैसे अंडे दूध मूंगफली गेहूं आदि से बच्चों में फूड से एलर्जी हो सकती है और मछली गेहूं खट्टे फलों और मूंगफली का सेवन करने से वेस्को में फूड एलर्जी होने की संभावना बढ़ जाती है|

खाने से एलर्जी के लक्षण (food allergy symptoms)

  • गले का बैठना और गले में खराश होना
  • सांस लेने में कठिनाई का अनुभव होना
  • लगातार खांसी होना
  • तनाव होने पर बेहोशी आना
  • नाक में खुजली और जलन जैसी समस्याएं होना
  • ब्लड प्रेशर कम हो जाना
  • होठों और जीभ में सूजन आना
  • रक्त का प्रभाव कम होना
  • पेट में दर्द रहना और मैं मरोड़े पड़ना
  • किडनी से संबंधित समस्या होना
  • लिवर में समस्याएं होना
  • एसिडिटी और कब्ज की समस्या
  • भूख न लगना
  • बेचैनी और घबराहट होना

फूड एलर्जी होने के कारण (food allergy causes)

1.अनुवांशिकता अगर आपके परिवार की सदस्य में से किसी को फूड एलर्जी है तो आपको भी वही फूड एलर्जी होने का खतरा बना रहता है|

2.विटामिन डी की कमी– शरीर में पर्याप्त मात्रा में विटामिन डी न मिलने पर फूड एलर्जी होने की संभावना बढ़ जाती है इसलिए हमें धूप में बैठना चाहिए क्योंकि धूप से हमें विटामिन डी मिलता है|

3.इम्यून सिस्टम इम्यून सिस्टम इन गड़बड़ होने के कारण फूड एलर्जी हो सकती है|

4.अंडों से एलर्जी-अंडों के सफेद भाग का सेवन करने से कई समस्याएं जैसे शरीर पर लाल चकत्ते निकलना , होठों में सूजन , नाक में खुजली और नाक बहना , आंखे लाल होना , आंखों से पानी निकलना जैसे लक्षण नजर आते हैं | इसलिए अंडे के पीले भाग का सेवन करना चाहिए जिन लोगों को हाई ब्लड प्रेशर और हृदय संबंधी रोग हैं और अंडे का पीले वाला भाग नहीं खाना चाहिए|

5.दूध से एलर्जी कुछ लोगों को दूध में पाए जाने वाली कई तरह की प्रोटीन से एलर्जी होती है जिसके कारण पेट में दर्द, डायरिया, आंखों से पानी निकलना ,सांस में कठिनाई का अनुभव होना,  बीपी कम होना जैसे लक्षण नजर आने लगते हैं|

6.अन्य एलर्जी– अगर किसी व्यक्ति को अस्थमा से संबंधित बीमारी है तो उसे फूड एलर्जी होने की आशंका बनी रहती है|

7.गेहूं से एलर्जी– गेहू एलर्जी होने का मुख्य कारण है जिन लोगों को गेहूं से एलर्जी है उन्हें प्रतिदिन की आड़ में मक्का ,चावल आदि का सेवन करना चाहिए | गेहूं की एलर्जी से वजन कम होना , भूख न लगना , एसिडिटी , पेट में दर्द जैसी समस्याएं उत्पन्न होने लगती है\

8.सोयाबीन से एलर्जी- सोयाबीन में पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है लेकिन कुछ लोगों को इसका सेवन करने से एलर्जी होती है|

9.आहार में कमी– पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व न मिलने पर फूड एलर्जी की समस्या उत्पन्न हो जाती है इसलिए फल और सब्जियों को अपने प्रति दिन की आहार में शामिल करें क्योंकि इनमें एंटीऑक्सीडेंट पर्याप्त मात्रा में पाए जाते हैं|

फूड एलर्जी टेस्ट (food allergy test)

एलर्जी एक संवेदनशील प्रतिक्रिया हैजोपदार्थशरीरकेसंपर्कमेंआतेहैंऐसेपदार्थोंकेखिलाफप्रतिक्रियाप्रतिरक्षाप्रणालीकीजातीहैएलर्जीटेस्टदोप्रकारसेकियाजाताहैजिसमेंस्किनटेस्टऔरब्लडटेस्टशामिलहैएलर्जीटेस्टसेयहपतालगायाजाताहैकिआपकोकिसचीजसेएलर्जीहै|

फूड एलर्जीटेस्टकेप्रकार:-

1.स्किनटेस्ट.स्किनटेस्टमेंएलर्जीपदार्थकोरोगीकीत्वचाकेसंपर्कमेंलायाजाताहैऔरपरीक्षणकियाजाताहैकीप्रतिक्रियाहोतीहैयानहीं|एलर्जीस्किनटेस्टकारिजल्टकुछहीघंटोंमेंपतालगजाताहैस्किनटेस्टतीनप्रकारकेहोतेहैंजिनकावर्णनइसप्रकारसेहै:-

  • स्किनप्रिकटेस्टइसटेस्टमेंएलर्जीपदार्थकीकुछबूंदेइंजेक्शनकेद्वारात्वचाकेअंदरभेजीजातीहैअगरत्वचापरहानिकारकप्रभावजैसेखुजलीसूजनआदिदिखनेलगताहैतोयहमानाजाताहैकिव्यक्तिकोइनपदार्थोंसेएलर्जीहै|
  • इंट्राडर्मलटेस्ट-जबकिसीएलर्जीपदार्थकीकुछबूंदेंइंजेक्शनकेमाध्यमसेत्वचाकेअंदरडालीजातीहैअगरमरीजकोईप्रतिक्रियानहींकरतातोइंट्रेडर्मलटेस्टकाउपयोगकियाजाताहै|
  • स्किनपैचटेस्टइसटेस्टमेंअर्जितपदार्थकोएकपेड़परलगाकरउसेस्किनपरबांधदियाजाताहैकॉन्टैक्टडर्मेटाइटिसस्किनसेसंबंधितरोगकापतालगानेकेलिएइसटेस्टकाउपयोगकियाजाताहै|

2.ब्लडटेस्टब्लडटेस्टमेंव्यक्तिकेखूनकीकुछमात्राइंजेक्शनकेद्वारालीजातीहैब्लडटेस्टखूनमेंएंटीबॉडीजनामकपदार्थके 70 कामापनकरताहैएलर्जीटेस्टकेद्वाराअगरआपकोत्वचासंबंधीसंक्रमणहैतोउसकापतालगायाजासकताहैअस्थमारोगकीजांचकेलिएभीएलर्जीब्लडटेस्टकाउपयोगकियाजाताहै|

फूड एलर्जी होने पर आयुर्वेदिक उपाय

गाजर का रस– गाजर में एंटीऑक्सीडेंट पोषक तत्व मौजूद होते हैं और इसमें विटामिन सी भी पर्याप्त मात्रा में होता है इसलिए गाजर का जूस पीने से फूड एलर्जी की समस्या दूर होती है

नींबू- पानी में नींबू के रस में एक चम्मच शहद मिलाकर इसका खाली पेट सेवन करने से शरीर के विषैले पदार्थ बाहर निकलते हैं और फूड एलर्जी की समस्या भी दूर होती है

विटामिन ई- कुछ खाद्य पदार्थों जैसे पालक बादाम जैतून का तेल ब्रोकली आदि में विटामिन ई भरपूर मात्रा में पाया जाता है इसलिए प्रतिदिन के आहार में ऊपर दिए गए खाद्य पदार्थों को शामिल करें ऐसा करने से फूड एलर्जी की समस्या से हमें आराम मिलता है

ग्रीनटीग्रीनटीमेंशहदमिलाकरइसकासेवनकरनेसेएलर्जीकीसमस्यादूरहोतीहै

कैस्टर ऑयल- कैस्ट्रोल को अरंडी का तेल भी कहते हैं अरंडी के तेल की कुछ बूंदे पानी में डालकर पीने से फूड एलर्जी की समस्या दूर होती है

विटामिन सी– हमें प्रतिदिन के आहार में फलों और सब्जियों को शामिल करना चाहिए क्योंकि इनमें विटामिन सी भरपूर मात्रा में पाया जाता है

पानीकासेवन-हमेंप्रतिदिनअधिकमात्रामेंपानीपीनाचाहिएपर्याप्तमात्रामेंपानीपीनेसेशरीरकेविषैलेपदार्थयूरिनकेसाथबाहरनिकलजातेहैंइसलिएज्यादापानीपीनेसेस्किनएलर्जीकीसमस्यादूरहोतीहै

खाने से एलर्जी(food allergy)

खाद्य पदार्थों का सेवन करने से खाने की प्रति जब आपका शरीर के इम्यून सिस्टम या प्रतिरक्षा प्रणाली का असामान्य रूप से प्रतिक्रिया देता है तो उसे खाने की एलर्जी कहते हैं कई बार हमारा इम्यून सिस्टम या प्रतिरक्षा प्रणाली खाने में पाए जाने वाले प्रोटीन को अर्जन पदार्थ समझने लगता है जिसका हमारे शरीर पर हानिकारक प्रभाव पड़ता है जिसके कारण लाल चकते होना आंखों से पानी आना आंखे लाल होना आंखों के चारों ओर सूजन होना नाक से संबंधित समस्या होना और सांस लेने में कठिनाई होना जैसी समस्याएं उत्पन्न होने लगती हैं |खाने से होने वाली एलर्जी से बचने के लिए सबसे पहले यह पता लगाना चाहिए कि आपको किस आहार से एलर्जी हुई है उसका परीक्षण करने के लिए स्किन टेस्ट और ब्लड टेस्ट किए जाते हैंआहार से होने वाली एलर्जी को ओरल एलर्जी सिंड्रोम कहा जाता है अगर फूड एलर्जी का सही समय पर इलाज नहीं किया जाए तो इससे हम अन्य बीमारियों की चपेट में आ सकते हैं

अगर आपको किसी आहार से एलर्जी हो रही है डॉक्टर की चिकित्सा ले आहार में शामिल जैसे अंडे दूध मूंगफली गेहूं आदि से बच्चों में फूड से एलर्जी हो सकती है और मछली गेहूं खट्टे फलों और मूंगफली का सेवन करने से वेस्को में फूड एलर्जी होने की संभावना बढ़ जाती है|

खाने से एलर्जी के लक्षण(food allergy symptoms)

  • गले का बैठना और गले में खराश होना
  • सांस लेने में कठिनाई का अनुभव होना
  • लगातार खांसी होना
  • तनाव होने पर बेहोशी आना
  • नाक में खुजली और जलन जैसी समस्याएं होना
  • ब्लड प्रेशर कम हो जाना
  • होठों और जीभ में सूजन आना
  • रक्त का प्रभाव कम होना
  • पेट में दर्द रहना और मैं मरोड़े पड़ना
  • किडनी से संबंधित समस्या होना
  • लिवर में समस्याएं होना
  • एसिडिटी और कब्ज की समस्या
  • भूख न लगना
  • बेचैनी और घबराहट होना

फूड एलर्जी होने के कारण(food allergy causes)

1.अनुवांशिकता अगर आपके परिवार की सदस्य में से किसी को फूड एलर्जी है तो आपको भी वही फूड एलर्जी होने का खतरा बना रहता है|

2.विटामिन डी की कमी– शरीर में पर्याप्त मात्रा में विटामिन डी न मिलने पर फूड एलर्जी होने की संभावना बढ़ जाती है इसलिए हमें धूप में बैठना चाहिए क्योंकि धूप से हमें विटामिन डी मिलता है|

3.इम्यून सिस्टम इम्यून सिस्टम इन गड़बड़ होने के कारण फूड एलर्जी हो सकती है|

4.अंडों से एलर्जी-अंडों के सफेद भाग का सेवन करने से कई समस्याएं जैसे शरीर पर लाल चकत्ते निकलना होठों में सूजन नाक में खुजली और नाक बहना आंखे लाल होना आंखों से पानी निकलना जैसे लक्षण नजर आते हैं इसलिए अंडे के पीले भाग का सेवन करना चाहिएजिन लोगों को हाई ब्लड प्रेशर और हृदय संबंधी रोग हैं और अंडे का पीले वाला भाग नहीं खाना चाहिए

5.दूध से एलर्जी कुछ लोगों को दूध में पाए जाने वाली कई तरह की प्रोटीन से एलर्जी होती है जिसके कारण पेट में दर्द, डायरिया, आंखों से पानी निकलना ,सांस में कठिनाई का अनुभव होना,  बीपी कम होना जैसे लक्षण नजर आने लगते हैं|

6.अन्य एलर्जी– अगर किसी व्यक्ति को अस्थमा से संबंधित बीमारी है तो उसे फूड एलर्जी होने की आशंका बनी रहती है|

7.गेहूं से एलर्जी– गेहू एलर्जी होने का मुख्य कारण है जिन लोगों को गेहूं से एलर्जी है उन्हें प्रतिदिन की आड़ में मक्का ,चावल आदि का सेवन करना चाहिए गेहूं की एलर्जी से वजन कम होना भूख न लगना एसिडिटी पेट में दर्द जैसी समस्याएं उत्पन्न होने लगती है

8.सोयाबीन से एलर्जी सोयाबीन में पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है लेकिन कुछ लोगों को 7:00 का सेवन करने से मर्जी होती है

9.आहार में कमी– पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व न मिलने पर फूड एलर्जी की समस्या उत्पन्न हो जाती है इसलिए फल और सब्जियों को अपने प्रति दिन की आहार में शामिल करें क्योंकि इनमें एंटीऑक्सीडेंट पर्याप्त मात्रा में पाए जाते हैं|

फूडएलर्जीटेस्ट(food allergy test)

एलर्जीएकसंवेदनशीलप्रतिक्रियाहैजोपदार्थशरीरकेसंपर्कमेंआतेहैंऐसेपदार्थोंकेखिलाफप्रतिक्रियाप्रतिरक्षाप्रणालीकीजातीहैएलर्जीटेस्टदोप्रकारसेकियाजाताहैजिसमेंस्किनटेस्टऔरब्लडटेस्टशामिलहैएलर्जीटेस्टसेयहपतालगायाजाताहैकिआपकोकिसचीजसेएलर्जीहै|

फूड एलर्जीटेस्टकेप्रकार:-

1.स्किनटेस्ट.स्किनटेस्टमेंएलर्जीपदार्थकोरोगीकीत्वचाकेसंपर्कमेंलायाजाताहैऔरपरीक्षणकियाजाताहैकीप्रतिक्रियाहोतीहैयानहीं|एलर्जीस्किनटेस्टकारिजल्टकुछहीघंटोंमेंपतालगजाताहैस्किनटेस्टतीनप्रकारकेहोतेहैंजिनकावर्णनइसप्रकारसेहै:-

  • स्किनप्रिकटेस्टइसटेस्टमेंएलर्जीपदार्थकीकुछबूंदेइंजेक्शनकेद्वारात्वचाकेअंदरभेजीजातीहैअगरत्वचापरहानिकारकप्रभावजैसेखुजलीसूजनआदिदिखनेलगताहैतोयहमानाजाताहैकिव्यक्तिकोइनपदार्थोंसेएलर्जीहै|
  • इंट्राडर्मलटेस्ट-जबकिसीएलर्जीपदार्थकीकुछबूंदेंइंजेक्शनकेमाध्यमसेत्वचाकेअंदरडालीजातीहैअगरमरीजकोईप्रतिक्रियानहींकरतातोइंट्रेडर्मलटेस्टकाउपयोगकियाजाताहै|
  • स्किनपैचटेस्टइसटेस्टमेंअर्जितपदार्थकोएकपेड़परलगाकरउसेस्किनपरबांधदियाजाताहैकॉन्टैक्टडर्मेटाइटिसस्किनसेसंबंधितरोगकापतालगानेकेलिएइसटेस्टकाउपयोगकियाजाताहै|

2.ब्लडटेस्टब्लडटेस्टमेंव्यक्तिकेखूनकीकुछमात्राइंजेक्शनकेद्वारालीजातीहैब्लडटेस्टखूनमेंएंटीबॉडीजनामकपदार्थके 70 कामापनकरताहैएलर्जीटेस्टकेद्वाराअगरआपकोत्वचासंबंधीसंक्रमणहैतोउसकापतालगायाजासकताहैअस्थमारोगकीजांचकेलिएभीएलर्जीब्लडटेस्टकाउपयोगकियाजाताहै|

फूड एलर्जी होने पर आयुर्वेदिक उपाय

गाजर का रस– गाजर में एंटीऑक्सीडेंट पोषक तत्व मौजूद होते हैं और इसमें विटामिन सी भी पर्याप्त मात्रा में होता है इसलिए गाजर का जूस पीने से फूड एलर्जी की समस्या दूर होती है

नींबू- पानी में नींबू के रस में एक चम्मच शहद मिलाकर इसका खाली पेट सेवन करने से शरीर के विषैले पदार्थ बाहर निकलते हैं और फूड एलर्जी की समस्या भी दूर होती है

विटामिन ई- कुछ खाद्य पदार्थों जैसे पालक बादाम जैतून का तेल ब्रोकली आदि में विटामिन ई भरपूर मात्रा में पाया जाता है इसलिए प्रतिदिन के आहार में ऊपर दिए गए खाद्य पदार्थों को शामिल करें ऐसा करने से फूड एलर्जी की समस्या से हमें आराम मिलता है

ग्रीनटीग्रीनटीमेंशहदमिलाकरइसकासेवनकरनेसेएलर्जीकीसमस्यादूरहोतीहै

कैस्टर ऑयल- कैस्ट्रोल को अरंडी का तेल भी कहते हैं अरंडी के तेल की कुछ बूंदे पानी में डालकर पीने से फूड एलर्जी की समस्या दूर होती है

विटामिन सी– हमें प्रतिदिन के आहार में फलों और सब्जियों को शामिल करना चाहिए क्योंकि इनमें विटामिन सी भरपूर मात्रा में पाया जाता है

पानीकासेवन-हमेंप्रतिदिनअधिकमात्रामेंपानीपीनाचाहिएपर्याप्तमात्रामेंपानीपीनेसेशरीरकेविषैलेपदार्थयूरिनकेसाथबाहरनिकलजातेहैंइसलिएज्यादापानीपीनेसेस्किनएलर्जीकीसमस्यादूरहोतीहै

करौंदाकरौंदेकासेवनकरनेसेहमारेशरीरकीप्रतिरोधकक्षमताबढ़तीहैसोनेकेपाउडरमेंशहदकोमिलाकरइसकामिश्रणबनालेंऔररातकोसोनेसेपहलेइसकासेवनकरेंयहनुस्खाबहुतहीलाभदायकहै|

खाने से एलर्जी(food allergy)

खाद्य पदार्थों का सेवन करने से खाने की प्रति जब आपका शरीर के इम्यून सिस्टम या प्रतिरक्षा प्रणाली का असामान्य रूप से प्रतिक्रिया देता है तो उसे खाने की एलर्जी कहते हैं कई बार हमारा इम्यून सिस्टम या प्रतिरक्षा प्रणाली खाने में पाए जाने वाले प्रोटीन को अर्जन पदार्थ समझने लगता है जिसका हमारे शरीर पर हानिकारक प्रभाव पड़ता है जिसके कारण लाल चकते होना आंखों से पानी आना आंखे लाल होना आंखों के चारों ओर सूजन होना नाक से संबंधित समस्या होना और सांस लेने में कठिनाई होना जैसी समस्याएं उत्पन्न होने लगती हैं |खाने से होने वाली एलर्जी से बचने के लिए सबसे पहले यह पता लगाना चाहिए कि आपको किस आहार से एलर्जी हुई है उसका परीक्षण करने के लिए स्किन टेस्ट और ब्लड टेस्ट किए जाते हैंआहार से होने वाली एलर्जी को ओरल एलर्जी सिंड्रोम कहा जाता है अगर फूड एलर्जी का सही समय पर इलाज नहीं किया जाए तो इससे हम अन्य बीमारियों की चपेट में आ सकते हैं

अगर आपको किसी आहार से एलर्जी हो रही है डॉक्टर की चिकित्सा ले आहार में शामिल जैसे अंडे दूध मूंगफली गेहूं आदि से बच्चों में फूड से एलर्जी हो सकती है और मछली गेहूं खट्टे फलों और मूंगफली का सेवन करने से वेस्को में फूड एलर्जी होने की संभावना बढ़ जाती है|

खाने से एलर्जी के लक्षण(food allergy symptoms)

  • गले का बैठना और गले में खराश होना
  • सांस लेने में कठिनाई का अनुभव होना
  • लगातार खांसी होना
  • तनाव होने पर बेहोशी आना
  • नाक में खुजली और जलन जैसी समस्याएं होना
  • ब्लड प्रेशर कम हो जाना
  • होठों और जीभ में सूजन आना
  • रक्त का प्रभाव कम होना
  • पेट में दर्द रहना और मैं मरोड़े पड़ना
  • किडनी से संबंधित समस्या होना
  • लिवर में समस्याएं होना
  • एसिडिटी और कब्ज की समस्या
  • भूख न लगना
  • बेचैनी और घबराहट होना

फूड एलर्जी होने के कारण(food allergy causes)

1.अनुवांशिकता अगर आपके परिवार की सदस्य में से किसी को फूड एलर्जी है तो आपको भी वही फूड एलर्जी होने का खतरा बना रहता है|

2.विटामिन डी की कमी– शरीर में पर्याप्त मात्रा में विटामिन डी न मिलने पर फूड एलर्जी होने की संभावना बढ़ जाती है इसलिए हमें धूप में बैठना चाहिए क्योंकि धूप से हमें विटामिन डी मिलता है|

3.इम्यून सिस्टम इम्यून सिस्टम इन गड़बड़ होने के कारण फूड एलर्जी हो सकती है|

4.अंडों से एलर्जी-अंडों के सफेद भाग का सेवन करने से कई समस्याएं जैसे शरीर पर लाल चकत्ते निकलना होठों में सूजन नाक में खुजली और नाक बहना आंखे लाल होना आंखों से पानी निकलना जैसे लक्षण नजर आते हैं इसलिए अंडे के पीले भाग का सेवन करना चाहिएजिन लोगों को हाई ब्लड प्रेशर और हृदय संबंधी रोग हैं और अंडे का पीले वाला भाग नहीं खाना चाहिए

5.दूध से एलर्जी कुछ लोगों को दूध में पाए जाने वाली कई तरह की प्रोटीन से एलर्जी होती है जिसके कारण पेट में दर्द, डायरिया, आंखों से पानी निकलना ,सांस में कठिनाई का अनुभव होना,  बीपी कम होना जैसे लक्षण नजर आने लगते हैं|

6.अन्य एलर्जी– अगर किसी व्यक्ति को अस्थमा से संबंधित बीमारी है तो उसे फूड एलर्जी होने की आशंका बनी रहती है|

7.गेहूं से एलर्जी– गेहू एलर्जी होने का मुख्य कारण है जिन लोगों को गेहूं से एलर्जी है उन्हें प्रतिदिन की आड़ में मक्का ,चावल आदि का सेवन करना चाहिए गेहूं की एलर्जी से वजन कम होना भूख न लगना एसिडिटी पेट में दर्द जैसी समस्याएं उत्पन्न होने लगती है

8.सोयाबीन से एलर्जी सोयाबीन में पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है लेकिन कुछ लोगों को 7:00 का सेवन करने से मर्जी होती है

9.आहार में कमी– पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व न मिलने पर फूड एलर्जी की समस्या उत्पन्न हो जाती है इसलिए फल और सब्जियों को अपने प्रति दिन की आहार में शामिल करें क्योंकि इनमें एंटीऑक्सीडेंट पर्याप्त मात्रा में पाए जाते हैं|

फूडएलर्जीटेस्ट(food allergy test)

एलर्जीएकसंवेदनशीलप्रतिक्रियाहैजोपदार्थशरीरकेसंपर्कमेंआतेहैंऐसेपदार्थोंकेखिलाफप्रतिक्रियाप्रतिरक्षाप्रणालीकीजातीहैएलर्जीटेस्टदोप्रकारसेकियाजाताहैजिसमेंस्किनटेस्टऔरब्लडटेस्टशामिलहैएलर्जीटेस्टसेयहपतालगायाजाताहैकिआपकोकिसचीजसेएलर्जीहै|

फूड एलर्जीटेस्टकेप्रकार:-

1.स्किनटेस्ट.स्किनटेस्टमेंएलर्जीपदार्थकोरोगीकीत्वचाकेसंपर्कमेंलायाजाताहैऔरपरीक्षणकियाजाताहैकीप्रतिक्रियाहोतीहैयानहीं|एलर्जीस्किनटेस्टकारिजल्टकुछहीघंटोंमेंपतालगजाताहैस्किनटेस्टतीनप्रकारकेहोतेहैंजिनकावर्णनइसप्रकारसेहै:-

  • स्किनप्रिकटेस्टइसटेस्टमेंएलर्जीपदार्थकीकुछबूंदेइंजेक्शनकेद्वारात्वचाकेअंदरभेजीजातीहैअगरत्वचापरहानिकारकप्रभावजैसेखुजलीसूजनआदिदिखनेलगताहैतोयहमानाजाताहैकिव्यक्तिकोइनपदार्थोंसेएलर्जीहै|
  • इंट्राडर्मलटेस्ट-जबकिसीएलर्जीपदार्थकीकुछबूंदेंइंजेक्शनकेमाध्यमसेत्वचाकेअंदरडालीजातीहैअगरमरीजकोईप्रतिक्रियानहींकरतातोइंट्रेडर्मलटेस्टकाउपयोगकियाजाताहै|
  • स्किनपैचटेस्टइसटेस्टमेंअर्जितपदार्थकोएकपेड़परलगाकरउसेस्किनपरबांधदियाजाताहैकॉन्टैक्टडर्मेटाइटिसस्किनसेसंबंधितरोगकापतालगानेकेलिएइसटेस्टकाउपयोगकियाजाताहै|

2.ब्लडटेस्टब्लडटेस्टमेंव्यक्तिकेखूनकीकुछमात्राइंजेक्शनकेद्वारालीजातीहैब्लडटेस्टखूनमेंएंटीबॉडीजनामकपदार्थके 70 कामापनकरताहैएलर्जीटेस्टकेद्वाराअगरआपकोत्वचासंबंधीसंक्रमणहैतोउसकापतालगायाजासकताहैअस्थमारोगकीजांचकेलिएभीएलर्जीब्लडटेस्टकाउपयोगकियाजाताहै|

फूड एलर्जी होने पर आयुर्वेदिक उपाय

गाजर का रस– गाजर में एंटीऑक्सीडेंट पोषक तत्व मौजूद होते हैं और इसमें विटामिन सी भी पर्याप्त मात्रा में होता है इसलिए गाजर का जूस पीने से फूड एलर्जी की समस्या दूर होती है

नींबू- पानी में नींबू के रस में एक चम्मच शहद मिलाकर इसका खाली पेट सेवन करने से शरीर के विषैले पदार्थ बाहर निकलते हैं और फूड एलर्जी की समस्या भी दूर होती है

विटामिन ई- कुछ खाद्य पदार्थों जैसे पालक बादाम जैतून का तेल ब्रोकली आदि में विटामिन ई भरपूर मात्रा में पाया जाता है इसलिए प्रतिदिन के आहार में ऊपर दिए गए खाद्य पदार्थों को शामिल करें ऐसा करने से फूड एलर्जी की समस्या से हमें आराम मिलता है

ग्रीनटीग्रीनटीमेंशहदमिलाकरइसकासेवनकरनेसेएलर्जीकीसमस्यादूरहोतीहै

कैस्टर ऑयल- कैस्ट्रोल को अरंडी का तेल भी कहते हैं अरंडी के तेल की कुछ बूंदे पानी में डालकर पीने से फूड एलर्जी की समस्या दूर होती है

विटामिन सी– हमें प्रतिदिन के आहार में फलों और सब्जियों को शामिल करना चाहिए क्योंकि इनमें विटामिन सी भरपूर मात्रा में पाया जाता है

पानीकासेवन-हमेंप्रतिदिनअधिकमात्रामेंपानीपीनाचाहिएपर्याप्तमात्रामेंपानीपीनेसेशरीरकेविषैलेपदार्थयूरिनकेसाथबाहरनिकलजातेहैंइसलिएज्यादापानीपीनेसेस्किनएलर्जीकीसमस्यादूरहोतीहै

करौंदाकरौंदेकासेवनकरनेसेहमारेशरीरकीप्रतिरोधकक्षमताबढ़तीहैसोनेकेपाउडरमेंशहदकोमिलाकरइसकामिश्रणबनालेंऔररातकोसोनेसेपहलेइसकासेवनकरेंयहनुस्खाबहुतहीलाभदायकहै|

करौंदा-करौंदेकासेवनकरनेसेहमारेशरीरकीप्रतिरोधकक्षमताबढ़तीहैसोनेकेपाउडरमेंशहदकोमिलाकरइसकामिश्रणबनालेंऔररातकोसोनेसेपहलेइसकासेवनकरेंयहनुस्खाबहुतहीलाभदायकहै|