डिप्रेशन (Depression )

डिप्रेशन

डिप्रेशन की समस्या आम समस्या बन गई है जिसके बहुत से कारण हो सकते हैं|भारत में लगभग 1 मिलियन लोग डिप्रेशन के शिकार हो चुके हैं|डिप्रेशन की समस्या दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है जिसके कारण बच्चे हों या बड़े सब तनाव से पीड़ित होते जा रहे हैं| लंबे समय तक तनाव रहने से चिंता का विषय बन सकता है| दुनिया भर में हो रही ज्यादा बीमारियों का कारण तनाव भी है| तेजी से बदलता लाइफ़स्टाइल , खानपान में लापरवाही आदि कुछ ऐसे कारण है जिसमें आदमी तनाव का शिकार होता जा रहा है| आयुर्वेदिक जड़ी बूटियां तनाव को कम करने में आपकी मदद कर सकती हैं|

डिप्रेशन
डिप्रेशन

डिप्रेशन के लक्षण

  • हमेशा थकान जैसा अनुभव करना
  • किसी भी काम में मन का न लगना
  • किसी भी काम का निर्णय न ले पाना
  • चिड़चिड़ा हो जाना
  • वजन का घटना बढ़ना और अनिद्रा का शिकार हो जाना
  • खालीपन की भावना

डिप्रेशन के कारण

  • हार्मोन में परिवर्तन-हार्मोन में बदलाव तनाव का कारण बन सकता है| हार्मोन में बदलाव जैसे-रजोनिवृत्ति , थायराइड की समस्या आदि विकार डिप्रेशन का कारण बन सकते हैं|
  • अनुवांशिकता- अगर आपके परिवार के जिमी पहले किसी को तनाव हुआ है तो आप भी तनाव का अनुभव कर सकते हैं|
  • मानसिक समस्या-कुछ लोगों में ही दिमाग में परिवर्तन के कारण तनाव हो सकता है|

डिप्रेशन से मुक्त करने वाली आयुर्वेदिक औषधियां

  1. अश्वगंधा- इस औषधि का प्रयोग करने से मन में नकारात्मक विचार आने बंद हो जाते हैं और इससे तनाव भी कम होता है|अश्वगंधा में  स्टेरायडल लैक्टोन,  सैपोनिन, एल्कलॉइड जैसे सक्रिय यौगिकों की उपस्थिति होती है जिसे तनाव और चिंता को दूर करने के लिए जाना जाता है|ये एंटी-इंफ़्लामेट्री और एंटी एंग्जायटी गुण प्रदान करते हैं। 
  2. ब्राह्मी-ब्राह्मी जड़ी बूटी के प्रभाव से तनाव और मानसिक रोग दूर हो जाते हैं और शरीर में समरण शक्ति का विकास भी हो जाता हैब्राह्मी के सेवन से मस्तिष्क में सेरोटोनिन का स्तर बढ़ता है, जिससे मन शांत होता है |
  3. हल्दी-हल्दी एक एंटीऑक्सीडेंट पदार्थ है जिसे शारीरिक और मानसिक रोगों से हमें निजात मिलता है|
  4. जटामांसी-इस औषधि के प्रयोग से व्यक्ति की मन में सकारात्मक विचार उत्पन्न होती है और इससे तनाव भी दूर होता हैयह अपने  एंटीडिप्रैंसेंट और  एंटी स्ट्रेस गुणों के लिए भी जाना जाती है। 
  5. मैग्निशियम– मैग्नीशियम की कमी के कारण हमारी याददाश्त कमजोर होने लगती है और तनाव भी बढ़ सकता है इसलिए हमें काजू बदाम अंजीर का सेवन करना चाहिए जिसमें मैग्निशियम पर्याप्त मात्रा में होता है|
  6. जिंक-जिंक की कमी से डिप्रेशन की समस्या उत्पन्न हो सकती है इसलिए हमें मूंगफली , लहसुन , सोयाबीन , बादाम आदि का सेवन करना चाहिए जिसमें जिंक भरपूर मात्रा में होता है|
  7. ओमेगा 3– ओमेगा थ्री के नियमित सेवन से हम डिप्रेशन से बच सकते हैं इसलिए मछली सरसों के बीज , सोयाबीन , हरी बींस इन में ओमेगा 3 पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है|
  8. आयोडीन -आयोडीन के लिए भी लहसुन आदि का सेवन किया जा सकता है| नमक में पर्याप्त मात्रा में आयोडीन पाया जाता है इसका सेवन करने से हम डिप्रेशनसे निजात पा सकते हैं|
हल्दी
हल्दी

डिप्रेशन से मुक्त होने के लिए सावधानियां

  1. वजन कम करें-यदि वजन बढ़ने से आपको तनाव हो रहा है तो वजन कम करने के बाद आपका मूड सामान्य हो सकता है| फिटनेस स्वास्थ्य भी में सुधार लाती है|
  2. नकारात्मक लोगों से दूर रहे-नकारात्मक लोगों से दूर रहने से मन को शांति का अनुभव होता है और नकारात्मक विचारों से निजात मिलता|
  3. मनोचिकित्सक की सलाह लें-तनाव को दूर करने के लिए सबसे आसान तरीका है कि आप गुरु चिकित्सक की सलाह ले ऐसा करने से आपको तनाव से निजात पाने में मदद मिलेगी|
  4. पर्याप्त मात्रा में नींद करना-सकारात्मक ऊर्जा प्राप्त करने के लिए आपको पर्याप्त मात्रा में नींद करनी चाहिए प्रतिदिन 7 से 8 घंटे सोने वाले व्यक्ति में तनाव के लक्षण कम मिलते हैं|
  5. व्यायाम करना– तनाव को दूर करने का सबसे अच्छा तरीका है व्यायाम करना| व्यायाम करने से शरीर में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होता हैव्यायाम करने से शरीर में सेरोटोनिन और टेस्टोस्टेरोन हार्मोन का स्राव होता है जिस से नकारात्मक विचार दूर होते हैं|
  6. संतुलित आहार का सेवन -फल सब्जी मास कार्बोहाइड्रेट आदि का सेवन करने से मन शांत रहता है|
  7. इमोशनल स्किल्स ड्व्लोप करिए-बहुत से लोग तनाव कोशिश फील्डिंग नहीं कर पाते हैं और भावुक हो जाते हैं इमोशनल स्किल्स आपको तनाव से दूर करती है|
  8. मदद मांगीए-अगर आपको लगता है कि आप डिप्रेशन में जा रहे हैं तो इस बात को नहीं छुपाए इसे छिपाना इसे बढ़ावा देता है इसलिए अपनी किसी भी परिवार के सदस्य से डिसकस कीजिए और मशवरा लीजिए इससे आपको डिप्रेशनसे राहत मिलेगी|