थकावट (fatigue)

थकावट एक सामान्य समस्या है| आमतौर पर आराम करने से थकावट दूर हो जाती है लेकिन कुछ लोगों में थकावट गंभीर समस्या बन जाती है| शरीर में ऊर्जा की कमी होने की स्थिति को थकावट कहा जाता है| शरीर में उर्जा की कमी होने पर कार्य करने की क्षमता कम हो जाती है| थकावट शारीरिक कारण और मानसिक कारणों से होती है| शारीरिक कारण जैसे कार्य क्षमता से अधिक काम करना कम पानी पीने से थकावट की समस्या हो जाती है और मानसिक कारण जैसे चिंता और तनाव होने पर नींद  जल्दी खुलने पर थकावट की समस्या महसूस होने लगती है| पुरुषों की अपेक्षा महिलाओं में यह समस्या अधिक देखने को मिलती हैं| यह किसी की भी उम्र के व्यक्ति को हो सकते हैं लेकिन 50 से 70 वर्ष की उम्र के लोगों में यह समस्या अधिक दिखाई देती है| आइए जानते हैं थकावट की समस्या होने पर कौन-कौन से लक्षण नजर आते हैं|

थकावट के लक्षण (fatigue symptoms)

  • मांसपेशियों में दर्द होना
  • जोड़ों में दर्द होना
  • सिर दर्द, चक्कर आना जैसे लक्षण प्रतीत होते हैं
  • अत्यधिक नींद आना थकावट का मुख्य लक्षण है
  • थकावट होने पर सांस लेने में तकलीफ होती है
  • शरीर में ऊर्जा की कमी होना
  • हृदय की धड़कन का असामान्य होना
  • किसी काम की ओर ध्यान केंद्रित न कर पाना
  • शुगर होने पर व्यक्ति को बार बार पेशाब आने की समस्या के कारण थकान जैसे लक्षण नजर आते हैं

थकावट के कारण (fatigue causes)

  1. हार्मोन असंतुलन- पुरुषों में हारमोंस में परिवर्तन आने के कारण थकावट होने लगती है|पुरुषों में टेस्टोस्टेरोन में हारमोंस का निर्माण नहीं हो पाता जिसके कारण व्यक्ति नपुंसकता का शिकार हो जाता है और थकावट होने लगती है|
  2. खून की कमी- महिलाओं में पीरियड्स के समय रक्त स्त्राव होने पर शरीर में खून की कमी हो जाती है जिसके कारण शरीर की कमजोरी हो जाती है या किसी अन्य बीमारी जैसे शुगर की चपेट में आने के कारण भी माहिलाओ या पुरुषों में खून की कमी हो जाती है और वजन कम होने लगता है|
  3. तनाव और डिप्रेशन– तनाव और डिप्रेशन भी थकावट का मुख्य कारण बन सकते हैं डिप्रेशन से सुबह रन जल्दी नींद खुल जाने पर थकावट महसूस होने लगती है|
  4. नींद की कमी- पर्याप्त मात्रा में नींद न लेने पर शरीर में कमजोरी आने लगती है और थकावट होने लगती है|
  5. आयरन– शरीर में आयरन की कमी से भी थकावट महसूस होने लगती है और अब साथ दवाइयों का सेवन करने से शरीर में आयरन का सतर बढ़ जाता है जिसके कारण थकावट होने लगती है|
  6. मोटापा – अगर आप का वजन बहुत ज्यादा है तो दिन भर काम करते रहने से शरीर को अधिक शर्म करना पड़ता है जिसके कारण थकावट महसूस होने लगती है|
  7. शुगर- शुगर की चपेट में आने के कारण व्यक्ति को बार बार पेशाब आने लगता है जिसके कारण शरीर में थकावट आने लगती है और व्यक्ति का वजन कम होने लगता है|
  8. विटामिंस की कमी- शरीर में विटामिंस की कमी होने के कारण में कमजोरी आने लगती है विटामिंस की कमी के कारण शरीर में लाल रक्त कणिकाओं का निर्माण कम होने लगता है जिसके कारण शरीर में काम करने की क्षमता कम हो जाती है और थकावट महसूस होने लगती है|
  9. इम्यून सिस्टम संबंधी समस्याएं- इम्यून सिस्टम मे शुक्राणु की कम संख्या होने पर इम्यून सिस्टम कमजोर हो जाता है और थकावट होने लगती है|

थकावट के प्रकार (types of fatigue)

थकावट दो प्रकार से हो सकती है:

  • शारीरिक थकावट- अगर आपका वजन बहुत ज्यादा है तो दिन भर काम करते रहने से थकावट महसूस होने लगती है नींद पूरी न होने से भी थकान हो सकती है इसके अलावा कम पानी पीने से या अपनी क्षमता से अधिक काम करने से भी थकावट हो सकती है|
  • मानसिक थकावट- तनाव और चिंता थकान का कारण बन सकते हैं अगर आपको समस्या का समाधान नजर नहीं आ रहा और डिप्रेशन में सुबह जल्दी नींद खुल जाने पर भी थकावट हो सकती है|

थकावट दूर करने के लिए उपाय(fatigue treatment)

  1. सौंफ- सौंफ में कैल्शियम , सोडियम , आयरन जैसे पोषक तत्व मौजूद होते हैं जिनसे शरीर को एनर्जी मिलती है और थकान की समस्या दूर होती है इसलिए सौंफ का सेवन करना चाहिए|
  2. मछली- मछली में ओमेगा 3 फैटी एसिड मौजूद होता है जिससे व्यक्ति को ऊर्जा मिलती है और थकावट का अनुभव नहीं होता|
  3. अधिक पानी पीना– शरीर में पानी की कमी होने पर भी थकावट की समस्या होती है  इसलिए हमें अत्यधिक मात्रा में पानी पीना चाहिए करना चाहिए|
  4. पपीता-पपीते में विटामिन बी पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है जो शरीर को तरोताजा करवाता है|
  5. नारियल तेल- नारियल तेल में वसा काफी मात्रा में पाया जाता है जो हमारे शरीर को एनर्जी देता है नारियल तेल से मालिश करने पर थकान को दूर किया जा सकता है|
  6. अश्वगंधा- अश्वगंधा में एंटी इन्फ्लेमेटरी गुड मौजूद होते हैं एक गिलास गुनगुने दूध के साथ अश्वगंधा के दो चम्मच पाउडर का सेवन करने से थकावट की समस्या दूर होती है|
  7. पालक -पालक में विटामिन और खनिज तत्व मौजूद होते हैं प्रतिदिन पालक के रस का सेवन करने से थकान को दूर किया जा सकता है|
  8. केला- केले में पोटेशियम और मिनरल पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है जो केले में पाई जाने वाली शर्करा जो शरीर को एनर्जी देते हैं|जैसे-ग्लूकोस, फ्रुक्टोज आदि को ऊर्जा में परिवर्तित कर देता है हमें प्रतिदिन के आहार में केले को शामिल करना चाहिए जो कमजोरी को दूर करता है|
  9. अंडा-अंडे में विटामिन ए और राइबोफ्लेविन मौजूद होते हैं इसलिए हमें प्रतिदिन सुबह या शाम को उबले हुए अंडे का सेवन करना चाहिए अंडों को खाने से शरीर को प्रोटीन मिलता है और कमजोरी  का अनुभव नहीं  होता|
  10. दही –दही में प्रोटीन , कार्बोहाइड्रेट्स मौजूद होते हैं जो थकान को दूर करते हैं इसलिए हमें प्रतिदिन दही का सेवन करना चाहिए|
  11. ग्रीन टी- ग्रीन टी पीने से हमें ऊर्जा मिलती है और तनाव भी दूर होता है|
  12. ओटमील- ओटमील में कार्बोहाइड्रेट्स मौजूद होते हैं जो हमारी मांसपेशियों को ऊर्जा प्रदान करते हैं इसलिए हमें प्रतिदिन के आहार में ओटमील नामक खाद्य पदार्थ का सेवन करना चाहिए|
  13. व्यायाम करना– नियमित व्यायाम करने से तनाव और थकान को दूर किया जा सकता है व्यायाम करने से हमें एनर्जी प्राप्त होती है|
  14. पेठे के बीज- पेठे के बीज में मैंगनीज ओमेगा 3 फैटी एसिड विटामिन b1 विटामिन b6 प्रोटीन भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं पेठे के बीज को गर्म पानी में उबालकर फिर बीजों को छीलकर पूरा दिन खाने से थकान दूर होती है|