स्किनएलर्जी (Skin allergy)

स्किनएलर्जी

स्किन एलर्जी की समस्या एक आम समस्या बन गई है किसी ऐसे व्यक्ति के संपर्क में आने से या उसको छूने से जो पहले से स्किन एलर्जी से ग्रस्त हो आपको भी यह समस्या होने की संभावना बढ़ जाती है धूल मिट्टीकेकणों के कारण और खान पान में मिलावट केकारण स्किन एलर्जी होने की संभावना बढ़ रही है त्वचा रोग होने के कारण त्वचा पर लाल दाने होना ,दाद ,खाज खुजली ,छाले या पित्त होना आदि लक्षण नजर आने लगते हैं दवाइयों का सेवन करने से भी स्किन एलर्जी की समस्या खत्म नहीं होती कोई व्यक्ति एक बार स्किन एलर्जी की समस्या का शिकार हो जाए तो वहआसानी से इस समस्या से निजात नहीं पा सकता|

स्किनएलर्जी के लक्षण (Skin allergy symptoms)

  • स्किन पर लाल चकत्ते होना या लाल दाने होना
  • स्किन पर खुजली और जलन होना
  • स्किन में खिंचाव पैदा होना स्किन पर लाल निशानों का पड़ना
  • स्किन पर रैशेज पड़ना
  • स्किन पर पपड़ी का जम जाना
  • स्किन में कांटे बन्ना और सूजन आना
skin allergy
स्किनएलर्जी (skin allergy)

स्किनएलर्जी के कारण(Skin allergy causes)

1.खानपान-

खाद्यपदार्थोंसेएलर्जी-कुछ खाद्य पदार्थों जैसे गाय के दूध ,मछली या फिर अंडे आदि का सेवन करने से आपको स्किन एलर्जी हो सकती है खाद्य पदार्थों का सेवन करने सेआपके शरीर पर हानिकारक प्रभाव पड़ सकता है|

2.प्रदूषण से एलर्जी– कारखानों व चिमनीओं से निकलने वाला धुआं हवा और पानी को दूषित कर देते हैं हवा और पानी के संपर्क में आने से स्किन एलर्जी होने लगती है|

3.अनुवांशिकता-अगरआपके परिवार में किसी व्यक्ति को कोई एलर्जी है ऐसे व्यक्ति के संपर्क में आने से भीआपको स्किन एलर्जी हो सकती है|

4.कीटपतंग-घर के आस-पास कॉकरोच ,मकड़ी, डेंगू ,टीडीआदि के काटने से स्किन एलर्जी हो सकती है|

5.जानवरों से एलर्जी -कुछ जानवरों की त्वचा की कोशिकाओं से हमारे शरीर पर हानिकारक परभाव पड़ता है जिसे स्किन एलर्जी होने की संभावना बढ़जाती है|

6.धातुसेएलर्जी -कुछ लोगों को सोना ,चांदी ,हीरा ,एलुमिनियम आदि को पहनने से एलर्जी होने लगती है|

7.नकलीगहने -कुछ महिलाओं को नकली धातु के गहनों को पहनने से एलर्जी होने लगती है|

8.धूम्रपान- धूम्रपान मे निकोटीन नामक पदार्थ होता है निकोटीन का हमारे शरीर पर हानिकारक प्रभाव पड़ता है जो एलर्जी होने का कारण बनता है|

9.डिटर्जेंट वाले साबुन-डिटर्जेंट वाले साबुन का प्रयोग करने से एलर्जी होने की संभावना बढ़ जाती है|

स्किनएलर्जी के प्रकार(Skin allergy types)

1.एक्जिमा-एग्जिमा स्किन एलर्जी से संबंधित बीमारी है जिसका असर पुरुषों से ज्यादा बच्चों पर पड़ता है जिसके कारण स्किन में जलन और सूजन जैसी समस्याएं होती है यह बीमारी अस्थमा एलर्जी राइनाइटिस से संबंधित है|

2.कांटैक्ट डर्मेटाइटिस– जब स्किन निखिल जैसी मिश्र धातु के संपर्क में आती है तो उस दिन पर मिश्र धातु का हानिकारक प्रभाव पड़ता है जैसे लाल दाने होना ,स्किन में खुजली और जलन जैसी समस्याएं होने लगती हैं|

3।पित्ती –यह भी एलर्जी से संबंधित समस्या है जिसके कारण त्वचा के नीचे रक्त वाहिकाओं पर गहरा प्रभाव पड़ता है और रक्त वाहिकाओं में सूजन आने लगती है|

4.एनजीओडिमा– एनजीओडिमा त्वचा से संबंधित रोगों का मुख्य प्रकार है इसमें त्वचा की गहराई में सूजन आने लगती है और लाल चकत्ते होने लगते हैं इसका मुख्य प्रभाव होठों और पलकों पर पड़ता है|

स्किनएलर्जी को दूर करने के लिए आयुर्वेदिक उपाय (Skin allergy treatment)

1.नीम-नीम में एंटी बैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं इसलिए नीम की पत्तियों को रात को पानी में भिगोकर पीस लेंऔर इस मिश्रण को प्रभावित त्वचा पर लगाएं और थोड़ी देर बाद ठंडे पानी से धोले ऐसा करने सेआपको लाभ मिलेगा|

Ne em
नीम ( Ne em )

2.नारियलतेल-नारियल में एंटी बैक्टीरियल गुण मौजूद होते हैं इसलिए नारियल के तेल को हल्का सा गर्म करके सोने से पहले लगाएं ऐसा करने सेआपको स्किन एलर्जी से निजात मिलेगा

3.नींबूकारस-नींबू का रस स्किनएलर्जी के निवारण के लिए बहुत लाभदायक है इसलिए प्रभावित स्थान पर नींबू का रस थोड़ी देर लगा रहने दें और फिर धोले

4.एलोवेरा-एलोवेरा में एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं जो त्वचा के रोगों से लड़ने में हमारी मदद करते हैं एलोवेरा की जेल को निकालकर स्किनएलर्जी वाले स्थान पर लगाएं ऐसा करने से आपको राहत मिलेगी

5.फिटकरी-हल्की सी फिटकरी में नारियल का तेल मिलाकर इसका मिश्रण बना लें और इसे स्किन एलर्जी वाले स्थान पर लगाएं ऐसा करने से स्किनएलर्जी की समस्या जल्दी दूर होगी

6.पपीता-पपीते में एंजाइम पाए जाते हैं इसलिए पपीते की फाइबर यानी गुर्दे को पीसकर प्रभावित स्थान पर लगाएं और थोड़ी देर बाद धोले ऐसा करने से आपको स्किनएलर्जी से निजात मिलेगा

7.पानीकासेवन-हमें प्रतिदिन अधिक मात्रा में पानी पीना चाहिए पर्याप्त मात्रा में पानी पीने से शरीर के विषैले पदार्थ यूरिन के साथ बाहर निकल जाते हैं इसलिएज्यादापानीपीनेसेस्किनएलर्जीकीसमस्यादूरहोतीहै

8.ओलिवऑयल –ऑलिवऑयलकोस्किनएलर्जीवालेस्थानपरलगानेसेखुजलीकीसमस्यादूरहोतीहै

स्किनएलर्जी टेस्ट(Skin allergy test)

स्किनएलर्जी एक संवेदनशील प्रतिक्रिया है जो पदार्थ शरीर के संपर्क में आते हैं ऐसे पदार्थों के खिलाफ प्रतिक्रिया प्रतिरक्षा प्रणाली की जाती है एलर्जी टेस्ट दो प्रकार से किया जाता है जिसमें स्किन टेस्ट और ब्लड टेस्ट शामिल है एलर्जी टेस्ट से यह पता लगाया जाता है कि आपको किस चीज से एलर्जी है|

एलर्जीटेस्टकेप्रकार:-

1.स्किनटेस्ट-.स्किन टेस्ट में एलर्जी पदार्थ को रोगी की त्वचा के संपर्क में लाया जाता है और परीक्षण किया जाता है कि प्रतिक्रिया होती है या नहीं| एलर्जी स्किन टेस्ट का रिजल्ट कुछ ही घंटों में पता लग जाता है स्किन टेस्ट तीन प्रकार के होते हैंजिनका वर्णन इस प्रकार से है:-

  • स्किनप्रिकटेस्ट– इस टेस्ट में एलर्जी पदार्थ की कुछ बूंदे इंजेक्शन के द्वारा त्वचा के अंदर भेजी जाती है अगर त्वचा पर हानिकारक प्रभाव जैसे खुजली सूजन आदि दिखने लगता है तो यह माना जाता है कि व्यक्ति को इन पदार्थों से एलर्जी है|
  • इंट्राडर्मलटेस्ट-जब किसी एलर्जी पदार्थ की कुछ बूंदें इंजेक्शन के माध्यम से त्वचा के अंदर डाली जाती है अगर मरीज कोई प्रतिक्रिया नहीं करता तो इंट्रेडर्मल टेस्ट का उपयोग किया जाता है|
  • स्किनपैचटेस्ट-इस टेस्ट में अर्जित पदार्थ को एक पेड़ पर लगाकर उसे स्किन पर बांध दिया जाता है कॉन्टैक्ट डर्मेटाइटिस स्किन से संबंधित रोग का पता लगाने के लिए इस टेस्ट का उपयोग किया जाता है|

2.ब्लडटेस्ट-ब्लड टेस्ट में व्यक्ति के खून की कुछ मात्रा इंजेक्शन के द्वारा ली जातीहै ब्लड टेस्ट खून में एंटीबॉडीज नामकपदार्थ के स्तर का मापन करता है एलर्जी टेस्ट के द्वारा अगर आपको त्वचा संबंधी संक्रमण हैतो उसका पता लगाया जा सकता हैअस्थमा रोग कीजांच के लिए भी एलर्जी ब्लड टेस्ट का उपयोग किया जाता है|